दो महीने के भीतर पूर्व सैनिकों की समस्या का निवारण किया जाएगाः रक्षा मंत्री

Edited by: Editor Updated: 03 Nov 2016 | 09:08 PM
detail image

बड़गाम। रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने गुरुवार को कहा कि केवल एक लाख पूर्व सैनिकों को वन रैंक वन पेंशन योजना के अनुसार पेंशन पाने में दिक्कत आ रही है और इसे दो महीने के भीतर सुलझा लिया जाएगा।

मनोहर पर्रिकर ने बड़गाम में पूर्व-सैनिकों को संबोधित करते हुए कहा, 'केवल एक लाख पूर्व-सैनिकों (20 लाख से ज्यादा में से) को किसी तकनीकी कठिनाई या दस्तावेजों में कमी की समस्या की वजह से ओआरओपी योजना के अनुसार पेंशन नहीं मिल रही है। हम आगामी दो महीने में इन समस्याओं को सुलझा लेंगे।'

आपको बता दें कि रक्षा मंत्री कश्मीर में सेना प्रमुख जनरल दलबीर सिंह के साथ स्वतंत्र भारत के प्रथम परमवीर चक्र विजेता मेजर सोमनाथ शर्मा को और 1947 में श्रीनगर हवाईअड्डे पर नियंत्रण के लिए पाकिस्तानी हमलावरों के हमलों का जवाब देते हुए शहादत देने वाले अन्य सैनिकों को श्रद्धांजलि देने आये थे।

पर्रिकर ने कहा कि सरकार ओआरओपी के मुद्दे पर संवेदनशील है और पिछले 43 साल से इसे लागू नहीं किया गया था। लेकिन हमने यह कर दिखाया। हर साल 7500 करोड़ रुपये खर्च किये जाएंगे और 11000 करोड़ रुपये बकाया का भुगतान किया जा चुका है।पेंशन में 23 से 24 प्रतिशत औसत वृद्धि हुई है।