महिला ज्योतिषियों ने की यूपी चुनाव के परिणाम की भविष्यवाणी

Edited by: Editor Updated: 21 Feb 2017 | 02:47 PM
detail image

वाराणसी। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव का दौर चल रहा है और तीन चरणों के लिए मतदान प्रक्रिया संपन्न हो चुकी है। चौथे चरण के लिए मंगलवार को शाम 5 बजे से चुनाव प्रचार बंद हो जाएगा। ऐसे में सभी पार्टी अपनी-अपनी जीत के दावे कर रहीं हैं। इसी क्रम में धर्मनगरी काशी की जानी-मानी महिला ज्योतिषाचार्यों ने रविवार को यूपी के सभी नेताओं की कुंडली देखी। हालांकि इस पर सभी ज्योतिषाचार्यों की राय जुदा रही। कुछ महिला ज्योतिषियों ने सपा तो कुछ ने भाजपा की जीत के आसार बताए।

यह भी पढ़ें-चुनावी विज्ञापन में बीजेपी ने सभी पार्टियों को छोड़ा पीछे


वहीं, कुछ ज्योतिषियों का तर्क यह भी था कि सात चरणों में हो रहे इस चुनाव में बसपा सुप्रीमो मायावती भी उम्दा प्रदर्शन कर सकती हैं। हालांकि कौन सी पार्टी सरकार बनाएगी? इस मुद्दे पर किसी महिला ज्योतिषी ने स्पष्ट और प्रभावी पक्ष सामने नहीं रखा। ज्योतिषाचार्य सोनाली रक्षित ने नरेंद्र मोदी, अखिलेश यादव और मायावती की कुंडलियों पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि इस चुनाव में गठबंधन से ही सरकार बनेगी।

यह भी पढ़ें-महाराष्ट्र के एमएलसी ने सैनिकों के पत्नी के चरित्र पर उठाए सवाल


उनका कहना था कि यूपी में सपा पहले स्थान पर और भाजपा दूसरे स्थान पर रह सकती है। सपा को सीटें ज्यादा मिल सकती हैं। उनका कहना था कि बीजेपी सत्ता में आएगी तो गठबंधन के बल पर ही आएगी। सीटों के मामले में सपा पहले, भाजपा दूसरे, बसपा तीसरे और कांग्रेस चौथे स्थान पर रह सकती है।

वहीं, संस्था की महासचिव स्वाति बरनवाल ने कहा कि अंक ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक पिछले विधानसभा चुनाव के मुकाबले अबकी बार भाजपा शानदार प्रदर्शन करेगी। ज्योतिषाचार्य डा.आभा यज्ञसेनी ने बताया कि जीत और हार के चक्र में अखिलेश और मायावती को दो-दो अंक मिल रहे हैं। भाजपा आगे नजर आ रही है।

यह भी पढ़ें-स्वामी ने खोले कार्ति चिदंबरम के 21 गुप्त विदेशी खातों के राज़


ज्योतिषाचार्या अंजनी सोनी ने ग्रह की स्थित को भाजपा के अनुकूल बताया। वहीं, सीमा कपूर ने सपा की जीत का संकेत दिया। अनुराधा वर्मा ने ग्रहों की चाल को बसपा के पक्ष में बताया। डा. रामेश्वर नाथ ओझा और कांति ओझा ने कहा कि शुक्र के वक्री होने के कारण यूपी के चुनाव में महिला प्रत्याशी का प्रभाव नहीं रहेगा। दोनों का संकेत था कि भाजपा अच्छा प्रदर्शन कर सकती है।

यह भी पढ़ें-इस वजह से ट्वीटर पर सुषमा को फॉलो नहीं करते उनके पति


कुल मिलाकर सभी महिला ज्योतिषियों का निष्कर्ष था कि यूपी में त्रिशंकु विधानसभा बन सकती है। ज्योतिषियों ने बताया कि चुनाव फाल्गुन कृष्ण प्रतिपदा 11 फरवरी से आरंभ है। इस अवधि में मतदान की तिथि आठ मार्च तक दो ग्रह वक्री रहेंगे। गुरु पहले से ही वक्री है और शुक्र तीन मार्च से वक्री हो जाएगा। ऐसे में वक्री ग्रहों का मिलन राजनीति में नया समीकरण बनाएगा। इसके परिणाम अप्रत्याशित होंगे।