Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

वर्ल्ड बैंक रिपोर्ट: कारोबारी सुगमता में भारत130वें स्थान पर

Edited By: Editor
Updated On : 2016-10-26 03:40:31
वर्ल्ड बैंक रिपोर्ट: कारोबारी सुगमता में भारत130वें स्थान पर
वर्ल्ड बैंक रिपोर्ट: कारोबारी सुगमता में भारत130वें स्थान पर

नई दिल्ली। वर्ल्ड बैंक की ताजा रिपोर्ट में कारोबारी सुगमता को लेकर भारत अब 130वें पायदान पर है जबकि रिपोर्ट के मुताबिक बिजली प्राप्त करने के मामले में भारत 51वें स्थान से 26वें स्थान पर आ गया है। हालांकि वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट पर भारत सरकार ने निराशा व्यक्त की है।


वर्ल्ड बैंक की सालाना रिपोर्ट के मुताबिक, बिजनेस करने में आसानी वाले देशों की रैकिंग में भारत 130वें पायदान पर है, जिसमें पिछले साल के मुकाबले भारत की रैंकिंग में एक पायदान का सुधार हुआ है, लेकिन वो भी इसलिए क्योंकि वर्ल्ड बैंक ने भारत की पिछले साल की रैंकिंग को संशोधित कर 130वें स्थान से 131वें स्थान पर कर दिया।

वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट के मुताबिक, देश ने निर्माण परमिट, कर्ज हासिल करने और अन्य मानदंडों के मामले नाममात्र या कोई सुधार नहीं किया है. वर्ल्ड बैंक की ताजा ‘डूइंग बिजनेस’ रिपोर्ट में भारत की स्थिति में पिछले साल के मुकाबले कोई सुधार नहीं हुआ है। विभिन्न मानदंडों के आधार पर भारत 190 देशों में 130वें पायदान पर था। हालांकि पिछले साल की रैंकिंग को संशोधित कर 131वां कर दिया गया है. इस लिहाज से देश ने एक पायदान का सुधार किया है.

केन्द्र सरकार का कहना है कि सरकार व्यापार सुगमता के लिए प्रयास कर रही है और उसका लक्ष्य देश को शीर्ष 50 में लाना है। वर्ल्ड बैंक के इंडेक्स में रैंकिंग में कोई सुधार नहीं होने को लेकर केंद्र सरकार ने निराशा जताई और कहा कि रिपोर्ट में उन 12 प्रमुख सुधारों पर विचार नहीं किया गया जिसे सरकार कर रही है।

अर्थव्यवस्था के प्रदर्शन और बेहतर गतिविधियों के बीच अंतर को मापने वाला ‘डिस्टेंस टू फ्रंटियर’के लिए 100 अंक है। इसमें भारत को इस साल 55.27 अंक मिले, जो पिछले साल 53.93 था। भारत एकमात्र देश है जिसकी रिपोर्ट में एक बॉक्स है, जिसमें जारी आर्थिक सुधारों की बातें हैं।

वर्ल्ड की डूइंग बिजनेस 2017 की सूची में न्यूजीलैंड पहले स्थान पर जबकि सिंगापुर दूसरे पायदान पर है. उसके बाद क्रमश: डेनमार्क, हांगकांग, दक्षिण कोरिया, नार्वे, ब्रिटेन, अमेरिका, स्वीडन तथा पूर्व यूगोस्लाव मैसिडोनिया गणराज्य का स्थान है। सूची में पाकिस्तान 144वें स्थान पर है।

सुधारों को आगे बढ़ाने के आधार पर 10 प्रमुख देश ब्रुनेई दारूसलाम, कजाकिस्तान, केन्या, बेलारूस, इंडोनेशिया, सर्बिया, जॉर्जिया, पाकिस्तान, संयुक्त अरब अमीरात और बहरीन हैं। वर्ल्ड बैंक के अनुसार दुनिया में 137 अर्थव्यवस्थाओं ने प्रमुख सुधारों को अपनाया, जिससे छोटे और मझोले आकार की कंपनियों को शुरू करना और कारोबार करना आसान हुआ है।

इसी प्रकार, सीमाओं के पार व्यापार के मामले में रैंकिंग एक स्थान सुधरकर 143 तथा अनुबंधों को लागू करने के मामले में छह पायदान बढ़कर 172 पर पहुंच गया। हालांकि कारोबार शुरू करने के लिहाज से भारत की रैंकिंग चार स्थान खिसककर 155वें स्थान पर आ गई, जबकि निर्माण परमिट के मामले में एक पायदान नीचे 185वें पर आ गई है। कर्ज के मामले में रैंकिंग दो अंक नीचे 44वें पर आ गई है।

 

 


बिजनेस पर शीर्ष समाचार