Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

योगी ने अधिकारियों को फटकारा 'अब बवाल हुआ तो खैर नहीं'

Edited By: Ankur Maurya
Updated On : 2017-10-16 20:50:06
योगी ने अधिकारियों को फटकारा 'अब बवाल हुआ तो खैर नहीं'
योगी ने अधिकारियों को फटकारा 'अब बवाल हुआ तो खैर नहीं'

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार एक्शन में दिख रहे हैं, जिससे अपराधी ही नहीं भ्रष्ट अधिकारियों की भी सांसें अटकने लगी है और कानून व्यवस्था के मुद्दे पर सीएम योगी लगातार बैठकें कर रहे हैं। कानून व्यस्था के मुद्दे पर सीएम योगी ने एक हफ्ते में दूसरी बार अधिकारियों को मीटिंग बुलाई और अधिकारियों को साफ निर्देश दिए कि चाहे जो हो यूपी की कानून व्यवस्था बिगड़नी नहीं चाहिए।

एक सप्ताह में ये दूसरा मौका था जब कानून व्यवस्था को लेकर सीएम योगी ने अधिकारियों की मीटिंग बुलाई। सभी जिलों के DM और SP मुख्यमंत्री योगी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर जुड़े और पुलिस विभाग के बड़े अधिकारी खुद सीएम के साथ मौजूद थे। एक-एक कर सबकी हाजिरी लगी और सभी सीएम के सामने उपस्थित हुए। किसी के काम की तारीफ हुई तो किसी को जमकर फटकार लगाई गई। सीएम योगी ने एक एक डीएम एसपी से जिले की कानून व्यवस्था का हाल जाना और जिस जिले से ज्यादा शिकायत मिली उन अधिकारियों को जमकर लताड़ लगाई।

अधिकारियो के साथ सीएम योगी की ये मैराथन बैठक करीब 4 घंटे तक चली मुख्यमंत्री ने इस बैठक में अधिकारियों को साफ लहजे में कहा कि कानून व्यवस्था पर ढिलाई बर्दाश्त नहीं है। सीएम योगी को पता है कि 2019 के चुनाव में जब जनता के पास जाएंगे तो सबसे बड़ा मुद्दा होगा यूपी में कानून के राज का। इसलिए सीएम लगातार बैठक कर रहे हैं और अधिकारियो को निर्देशित कर रहे हैं कि यूपी को कैसे अपराध मुक्त बनाना है।

मुहर्रम और दशहरा में धर्म और आस्था की आड़ में जिस तरह उपद्रवियों ने कानपुर से बलिया तक अधर्म की आग लगाई थी। उससे सीख लेते हुए सीएम ने दीपावली और छठ से पहले पुलिस अधिकारियों की दूसरी बार बैठक बुलाई और साफ साफ कहा कि जो पिछली बार हुआ वो दोहराया न जाए।

फैसला ऑन द स्पॉट वाले सीएम योगी आदित्यनाथ लगातार एक्शन में हैं। कानून व्यवस्था सीएम की सबसे पहली प्राथमिकता है। सीएम योगी को पता है कि यूपी की कानून व्यवस्था को सुधारे बिना उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश नहीं बनाया जा सकता इसलिए सीएम योगी लगातार कानून व्यवस्था को सुधारने के लिए बैठकें कर रहे हैं।


उत्तर प्रदेश पर शीर्ष समाचार


x