Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

MLA के प्यार में पागल जाहिदा ने संभालकर रखे थे यूज्ड कंडोम

Edited By: Ashish Kumar
Updated On : 2017-01-30 20:15:34
MLA के प्यार में पागल जाहिदा ने संभालकर रखे थे यूज्ड कंडोम
MLA के प्यार में पागल जाहिदा ने संभालकर रखे थे यूज्ड कंडोम

भोपाल। शेहला मसूद के हत्या की सुपारी देने वाली जाहिदा परवेज भाजपा विधायक ध्रुवनारायण सिंह के प्यार में इस कदर पागल थी कि वो भाजपा के तत्कालीन विधायक के यूज्ड कंडोम भी प्लास्टिक पाउच में संभालकर रखती थी। इतना ही नहीं वो प्लास्टिक पैक के ऊपर उसको यूज करने की तारीख भी लिखती थी। 6 साल चले इस केस में 137 तारीखों पर सुनवाई हुई। इस दौरान CBI ने 83 गवाह पेश किए थे।

यह भी पढ़ें- 11वीं बार आसाराम की बेल अर्जी खारिज, 1 लाख का जुर्माना

बता दें कि शेहला आरटीआई कार्यकर्ता थीं। उनका भोपाल में 2011 में मर्डर हुआ था। शेहला(38)घर से ऑफिस जाने के लिए निकली थीं। जैसे ही वे कार में बैठीं,उन्हें गोली मार दी गई। फैसला आने के बाद शेहला के पिता ने कहा कि मैं फैसले का सम्मान करता हूं। अब मेरी बेटी तो वापस नहीं आएगी। मुझे और कुछ नहीं कहना।'पड़ोसियों ने भी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

सीबीआई के तत्कालीन संयुक्त निदेशक केशव कुमार के नेतृत्व में एक टीम ने 29 फरवरी, 2012 को जाहिदा परवेज के MP नगर स्थित दफ्तर पर दबिश दी थी। आर्किटेक्चर कंपनी चलाने वाली जाहिदा के आफिस से एक अहम चीज मिली थी, वह जाहिदा की डायरी थी। इसी डायरी से पूरा केस खुला।

यह भी पढ़ें- साध्वी के ठिकाने पर छापा,1.25 करोड़ नकद और शराब बरामद

बता दें कि जाहिदा की डायरी में शेहला की हत्या वाले दिन 16 अगस्त, 2011 को लिखा गया था कि उसे उसके घर के सामने गोली मार दी गई। मैं सुबह से ही परेशान थी। अली (साकिब अली ‘डेंजर’, जिसने भाड़े के हत्यारों को हत्या का काम सौंपा था) ने 11:15 बजे फोन किया कि मुबारक हो साहिब, हमने उसके घर के सामने काम कर दिया। हत्या की पुष्टि के लिए मैंने अपने एक कर्मचारी को शेहला के घर भेजा। उसके बाद मुझे सुकून मिला।

जाहिदा के ऑफिस की करीब 2 घंटे तलाशी ली गई थी। इसमें ऐसे कई सबूत हाथ लगे थे, जो साबित करते थे कि बीजेपी के ताकतवर नेता ध्रुव नारायण सिंह के साथ जाहिदा के प्रेम संबंध थे। उनकी दूसरी प्रेमिका शेहला थी। जाहिदा इसी कारण से शेहला को पसंद नहीं करती थी।

यह भी पढ़ें- मां ने 2 साल के मासूम बच्चे को सीढ़ियों से नीचे फेंका

सीबीआई को जाहिदा की डायरी से ध्रुव के साथ उसके अवैध यौन संबंधों की जानकारी पता चली थी। ऑफिस से एक सीडी रिकॉर्डिंग, वहीं प्लास्टिक की थैलियों में संभालकर रखे यूज्ड कंडोम भी मिले थे। उन पर इस्तेमाल की तारीख भी लिखी गई थी। मामला तूल पकड़ने के बाद ध्रुव नारायण सिंह को बीजेपी के उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा देना पड़ा था।

जाहिदा ने दावा किया था कि ध्रुव ने ही उसे साकिब अली ‘डेंजर’ से मिलवाया था। हालांकि जाहिदा पर्याप्त सबूत नहीं दे सकी।सीबीआई ने 15 अगस्त, 2011 को शेहला को किए गए ध्रुव के कॉल की जांच की। उसके बाद पॉलीग्राफ टेस्ट भी करवाया गया। बाद में क्लीन चिट दे दी गई।

यह भी पढ़ें- गैंगरेप का किया फेसबुक पर लाइव स्ट्रीमिंग,पुलिस ने किया अरेस्ट

ध्रुव के साथ शेहला के संबंध 2000 से थे। उस समय वह अपनी पहली इवेंट कंपनी मिरेकल्स खोलने के लिए दिल्ली से भोपाल लौटी थी। उसने जामिया मिलिया इस्लामिया से जनसंचार का पाठ्यक्रम पूरा करने के बाद दिल्ली में अमिताभ बच्चन कॉर्पोरेशन लिमिटेड के साथ काम करते हुए इवेंट मैनेजमेंट का अनुभव हासिल किया था। कहा जाता है कि 2003 और 2007 के बीच भोपाल विकास प्राधिकरण के चेयरमैन के रूप में ध्रुव ने शहला के बिजनेस में मदद की थी।


अपराध पर शीर्ष समाचार


x