इंटरव्यू में पूछा इस्लाम में क्यों हराम है सुअर ?

Edited by: Ankur_maurya Updated: 14 Nov 2017 | 06:55 PM
detail image

नई दिल्ली। अगर किसी की परिक्षा को कठिन माना जाता है तो वह IAS की परिक्षा होती है और इन परिक्षाओं को पास करने के बाद बारी आती है सबसे कठिन पड़ाव कि जो इसका इंटरव्यू होता है। इस इंटरव्यू में कई बार ऐसे प्रश्न पूछे जाते हैं जिन प्रश्नों में आजकल के युवाओं की कोई दिलचस्पी नहीं होती।

IAS इंटरव्यू में ऐसा ही एक प्रश्न पूछा गया जिसमें कई सारे लोग जवाब नहीं दे पाए, सवाल था कि इस्लाम में क्यों हराम है सुअर का गोश्त?, अब सबको पता तो है की इस्लाम में सुअर हराम है लेकिन हराम क्यों है ? ये किसी को नहीं पता। हम आपको बतातें है इसका जवाब।

दरअसल बात ये है के मुसलमानों का खाना पीना, उठना, बैठना, सोना, चलना सब का तरीका दीन–ए-इस्लाम ने बताया है I और अधिकतर मुसलमान अपनी जिंदगी दीन– ए–इस्लाम पर गुजरना ही अपना परम कर्तव्य समझता है और इसी में अपने लिए भलाई की तलब करता है I

मुसलमानों को अल्लाह ने उत्तम दर्जे का विज्ञान दिया है, जिन बातों को आज विज्ञान हमें सिखा रहा है, मुस्लमान उन्हें बहुत पहले से ही जानते हैं, क्योंकि आज के वैज्ञानिक दौर में हम कह सकते हैं के कौनसी चीज हमारे लिए अच्छी है और कौनसी चीज हमारे लिए नुकसान दायक है I।