CA कोर्स के सिलेबस में हुआ बड़ा बदलाव

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-10-16 17:23:46
CA कोर्स के सिलेबस में हुआ बड़ा बदलाव

नई दिल्ली। भारतीय चार्टर्ड अकाउंटेंट्स संस्थान (आईसीएआई) सीए परीक्षा के पाठयक्रम में बड़े बदलाव करने जा रहा है। आईसीएआई पाठ्यक्रम में सुधार करने और नए विषय शामिल करने के साथ ओपन बुक टेस्ट भी शुरू करने जा रहा है। आईसीएआई ने यह बदलाव वित्तीय दुनिया में लगातार हो रहे बदलावों को देखते हुए किए है। ये बदलाव नवंबर 2016 से लागू होंगे।

चार्टर्ड अकाउंटेंसी कोर्स तीन स्तर में बंटा होता है। इसमें पहला कॉमन प्रोफिसिएंसी टेस्ट यानी सीपीटी होता है। दूसरा इंटीग्रेटिड प्रोफेशनल काम्पीटेंसी कोर्स (आईपीसीसी) और तीसरी अंतिम परीक्षा होती है। अब नए सिलेबस के मुताबिक सीपीटी को और कठिन किया जा रहा है। इसके तहत फाउंडेशन कोर्स में दो नए विषय शामिल किए जा रहे हैं। सीपीटी में अब बहुविकल्पीय प्रश्नों के साथ व्याख्यात्मक सवाल भी होंगे।

इसी तरह आईपीसीसी के स्तर पर इकोनोमिक्स फोर फाइनेंस विषय को जोड़ गया है। इसके अलावा अंतिम परीक्षा में भी विद्यार्थियों को और विकल्प उपलब्ध कराए जा रहे हैं। इनमें रिस्क मैनेजमेंट, इंटरनेशनल टेक्सेशन, फाईनेंशियल सर्विसेज एंड कैपिटल मार्केट्स, ग्लोबल फाईनेंशियल रिपोर्टिग स्टैंडर्ड, इकोनोमिक्स लॉ एंड मल्टी डिसिप्लीनरी केस शामिल हैं। ये पेपर ओपन बुक टेस्ट पर आधारित होंगे और सवाल केस स्टडीज से पूछे जाएंगे।

सीए करने वाले विद्यार्थियों को अब तकनीकी प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।तकनीकी प्रशिक्षण के दौरान विद्यार्थियों को व्यक्तिगत विकास और सॉफ्ट स्किल आदि के बारे में विस्तार से बताया जाएगा। इसके अतिरिक्त इंफोर्मेशन सिस्टम कंट्रोल एंड ऑडिट का नाम बदलकर इंफोर्मेशन सिस्टम रिस्क मैनेजमेंट एंड ऑडिट किया जाएगा। यह एडवांस्ड इंटीग्रेटिड कोर्स का हिस्सा होगा।

अभी सीए कोर्स के लिए कक्षा दस के बाद पंजीकरण किया जा सकता है। लेकिन इस इसमें बदलाव में आगे से कक्षा 12 में पढ़ रहे विद्यार्थी ही इस कोर्स के लिए अपना पंजीकरण करा पाएंगे। विद्यार्थियों को फाउंडेशन परीक्षा के बाद चार माह की पढ़ाई करनी होगी।

 


राष्ट्रीय पर शीर्ष समाचार