अब खून के बदले देना होगा ढ़ाई गुना पैसा

Edited by: Editor Updated: 31 Oct 2016 | 07:14 PM
detail image

झांसी। बुंदलेखण्ड में महंगाई की आंच सिर्फ दाल, चावल और रोजमर्रा की चीजों तक ही नहीं पहुंची है, बल्कि महंगाई की आंच में अब खून भी जलने लगा है। दरअसल प्रदेश शासन ने सकरुलर जारी कर सरकारी ब्लड बैंकों से ब्लड लेना ढाई गुना महंगा कर दिया है।

हालांकि मेडिकल कालेज एवं जिला अस्पताल में भर्ती मरीजों को पुराने रेट में मिलेगा, किंतु प्राइवेट अस्पतालों के मरीजों को होल ब्लड एवं कंपोनेंट खरीदने के लिए ज्यादा कीमत चुकानी पड़ेगी।

मरीजों को खून देने नाको की गाइडलाइन बताती है कि ब्लड बैंकों को बिना शर्त मरीज को खून देना चाहिए, किंतु अभी मरीजों के परिजनों को खून देना पड़ता है। मेडिकल कालेज में तकरीबन एक हजार से अधिक व जिला अस्पताल में 600 से अधिक यूनिट ब्लड की क्षमता है, किंतु इनमें 60 फीसद से ज्यादा रक्त की उपलब्धता नहीं होती है, ऐसे में मरीजों को कई गुना ज्यादा दाम देकर प्राइवेट ब्लड बैंकों से रक्त एवं कंपोनेंट लेना पड़ेगा।