Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

दिवाली के धुंए से डेंगू का प्रकोप हुआ कम

Edited By: Editor
Updated On : 2016-11-02 12:29:46
दिवाली के धुंए से डेंगू का प्रकोप हुआ कम
दिवाली के धुंए से डेंगू का प्रकोप हुआ कम

देहरादून। उत्तराखण्ड में दिवाली पर हुई आतिशबाजी और तापमान में आ रही गिरावट से प्रदेश में डेंगू का प्रकोप कुछ कम हुआ है। मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि पटाखों से कार्बन डाइआॅक्साइड और सल्फर जैसी गैस निकलती है। ये गैस मच्छरों के लिए काफी जहरीली होती है, जिससे उनका सफाया हो जाता है। ऐसे में प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग ने राहत की सांस ली है।

गौरतलब है कि प्रदेश में इस बार डेंगू की आमद काफी पहले हो चुकी थी और इसकी चपेट में आने वाले मरीजों की संख्या ने पिछले सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए थे। करीब चार महीनों तक लोग इस बीमारी से परेशान रहे जबकि स्वास्थ्य महकमा इससे निपटने के दावे करता रहा लेकिन जमीनी हकीकत बिल्कुल इसके उलट रही।

डेंगू से पीड़ित मरीज अस्पतालों में बेड और प्लेटलेट्स तक के लिए तरसते रहे। मरीजों को मुफ्त प्लेटलेट्स मुहैया कराने के ऐलान का भी कुछ खास असर नहीं दिखा। लोगों को पैसे देकर प्लेटलेट्स खरीदने पड़े।

राज्य को डेंगू के प्रकोप से बचाने के लिए किए जाने वाले फॉगिंग को लेकर भी विभाग आपस में ही उलझते दिखे। स्थिति इतनी बदतर हो गई कि खुद मुख्यमंत्री को मोर्चा संभालना पड़ा। डेंगू के मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या पर महकमा पर्दा डालता नजर आया।


उत्तराखंड पर शीर्ष समाचार


x