मसूद अजहर पर बैन लगवाना है तो ठोस सुबूत दे भारतः चीन

Edited by: Editor Updated: 17 Feb 2017 | 08:27 PM
detail image

बीजिंग। भारत और चीन के बीच अगले हफ्ते होने वाले स्ट्रैटेजिक डॉयलॉग के पहले चीन ने कहा है कि भारत अगर आतंकी मसूद अजहर पर यूएन के जरिए दुनियाभर में बैन लगवाना चाहता है तो उसे पुख्ता सबूत देने होंगे। बता दें कि यह बातचीत 22 फरवरी को बीजिंग में होगी। इसमें भारत की तरफ से विदेश सचिव एस. जयशंकर और चीन की ओर से झांग इसोई भाग लेंगे।

यह भी पढ़ें- जुकरबर्ग ने शेयर किया 'फ्यूचर नोट', PM मोदी का भी किया जिक्र

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने शुक्रवार को मीडिया ब्रीफिंग में अपने देश का पक्ष रखा। शुआंग ने कहा, दोनों देशों के बीच कुछ मुद्दे ऐसे हैं जिनका हल निकाला जाना जरूरी है। हालांकि, दो पड़ोसियों के बीच इस तरह की चीजें होना नई बात नहीं है।

वहीं, गेंग से जब मसूद अजहर के बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, चीन इस मसले पर भारत का सपोर्ट कर सकता है लेकिन इसके लिए पुख्ता सबूत जरूरी हैं। हम अपने सिद्धांतों के आधार पर अगला कदम उठाएंगे।

यह भी पढ़ें- सूफी दरगाह पर हमले से बौखलाया पाक, जवाबी कार्रवाई में 37 आतंकी ढेर

गौरतलब है कि चीन ने पिछले साल मसूद अजहर को बैन किए जाने के प्रपोजल को होल्ड कर दिया था। इस साल अमेरिका ने यूएन सिक्युरिटी काउंसिल में अजहर को बैन किए जाने का प्रपोजल रखा है। इस पर भी चीन ने अड़ंगा लगा दिया। वहीं, भारत की एनएसजी सदस्यता का विरोध करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि हमने कई बार कहा है कि इसके पीछे कई वजह हैं।