गांधी की हत्या से जुड़े मुकदमे में नाथूराम गोडसे के बयान को सार्वजनिक करें: CIC

Edited by: Editor Updated: 17 Feb 2017 | 10:41 PM
detail image

नई दिल्ली। केंद्रीय सूचना आयोग ने आदेश दिया है कि महात्मा गांधी की हत्या से जुड़े मुकदमे में नाथूराम गोडसे के बयान सहित अन्य संबंधित रिकॉर्ड को तुरंत नेशनल आर्काइव्ज (राष्ट्रीय अभिलेखागार) की वेबसाइट पर सार्वजनिक किया जाए। सूचना आयुक्त श्रीधर आचार्युलु ने कहा, 'कोई नाथूराम गोडसे और उनके सह-आरोपी से इत्तेफाक भले ही ना रखें, लेकिन हम उनके विचारों का खुलासा करने से इनकार नहीं कर सकते।'

यह भी पढ़ें- कश्मीर के लोगों पर आतंकियों को भागने में मदद करने का दबावः CRPF

वहीं, सूचना आयुक्त ने साथ ही अपने आदेश में यह भी कहा, 'ना ही नाथूराम गोडसे और ना हीं उनके सिद्धांतों और विचारों को मानने वाला व्यक्ति किसी के सिद्धांत से असहमत होने की स्थिति में उसकी हत्या करने की हद तक जा सकता है। बता दें कि दक्षिणपंथी कार्यकर्ता नाथूराम गोडसे ने 30 जनवरी 1948 को महात्मा गांधी की हत्या कर दी थी।

यह भी पढ़ें- तीन तलाक मुद्दे पर अब 5 जजों की संविधान पीठ करेगी सुनवाई: SC

आपको बता दें कि याचिका दायर करने वाले आशुतोष बंसल ने दिल्ली पुलिस से इस हत्याकांड की चार्जशीट और गोडसे के बयान समेत अन्य जानकारियां मांगी हैं। दिल्ली पुलिस ने उनके आवेदन को नेशनल आर्काइव्ज ऑफ इंडिया के पास यह कहते हुए भेज दिया कि संबंधित रिकॉर्ड नेशनल आर्काइव्ज को सौंपे जा चुके हैं। नेशनल आर्काइव्ज ऑफ इंडिया ने बंसल से कहा कि वह रिकॉर्ड देखकर खुद ही सूचनाएं प्राप्त कर लें।