राजस्थानः अब 5 रुपए में नाश्ता और 8 रुपए में मिलेगा भरपेट भोजन

Edited by: Editor Updated: 24 Nov 2016 | 07:02 PM
detail image

जयपुर। राजस्थान में अब लोगों को सस्ता खाना मिलेगा। प्रदेश सरकार आम नागरिको को सस्ती एवं रियायती दरों पर अच्छा खाना देने की तैयारी कर रही है। राज्य सरकार अच्छी गुणवत्ता, पौष्टिक एवं स्वच्छ आहार उपलब्ध कराने के लिए अन्नपूर्णा रसोई योजना शुरू करने जा रही है। योजना प्रदेश के 12 जिलों में शुरू की जाएगी।

इसमें आमजन, श्रमिक, रिक्शावाला, ऑटोवाला, कर्मचारी, विद्यार्थी, कामकाजी महिलाओं, बुजुर्ग एवं अन्य असहाय व्यक्तियों को मात्र 5 रुपए प्रति प्लेट में नाश्ता तथा मात्र 8 रुपए प्रति प्लेट में दोपहर और रात का भोजन मिलेगा।

यह भी पढ़ें- बांकेबिहारी की गुल्लक में निकले सोने और चांदी के बिस्कुट

पहले चरण में राजधानी जयपुर सहित संभागीय मुख्यालयों जोधपुर, उदयपुर, अजमेर, कोटा, बीकानेर एवं भरतपुर और प्रतापगढ़, डूंगरपुर, बांसवाड़ा, बारां तथा झालावाड़ में 80 वैनों के माध्यम से तीन समय का भोजन स्वायत्त शासन विभाग अथवा संबंधित नगरीय निकाय द्वारा चिह्नित किए गए स्थान पर वितरित किया जाएगा।

इन वैनों के माध्यम से अच्छी गुणवत्ता का नाश्ता एवं भोजन उपलब्ध करवाया जाएगा। साथ ही, भोजन करने वालों के लिए बैठने की उचित व्यवस्था भी की जाएगी। भविष्य में अन्नपूर्णा रसोई को पूरे राज्य में लागू करने की योजना है।

यह भी पढ़ें- कानपुर के बाद अब दिल्ली में भी पटरी से उतरी ट्रेन

बता दें कि अन्नपूर्णा रसोई में टोपी, ग्लव्ज, एप्रन और निर्धारित पोशाक पहन कर प्रशिक्षित कार्मिक ही भोजन तैयार करने से लेकर वितरण करने तक का काम करेंगे। ये कर्मचारी हॉस्पिटेलिटी की ट्रेनिंग में दक्ष होंगे।

इस योजना में भोजन उपलब्ध करवाने के साथ ही भोजन बनाने, परोसने और भोजन के उपरांत वेस्ट के प्रभावी मैनेजमेंट पर विशेष ध्यान दिया गया है, ताकि लोगों को स्वच्छ और स्वास्थ्यवर्धक भोजन मिले। भोजन के मेनू, एक डाइट की मात्रा और दरें भी अन्नपूर्णा रसोई वैन पर प्रदर्शित की जाएंगी ताकि भोजन करने वाले निर्धारित राशि में ही भोजन कर सकें।

यह भी पढ़ें- आईएएस टॉपर टीना डाबी और अतहर आमिर करेंगे शादी

आपको बता दें कि जयपुर में 25, जोधपुर, उदयपुर, अजमेर, कोटा, बीकानेर एवं भरतपुर में 5-5, झालावाड़, झालरापाटन में 6, प्रतापगढ़ एवं बारां में 3-3 तथा डूंगरपुर व बांसवाड़ा में 4-4 वैन आम नागरिकों को नाश्ता एवं भोजन की व्यवस्था के लिए लगाई जाएंगी।