भारतीय बैंक में कर्मचारियों की जगह काम करेंगे रोबोट

Edited by: Editor Updated: 11 Nov 2016 | 03:03 PM
detail image

नई दिल्ली। भारतीय बैंक में अब कर्मचारी नहीं रोबोट काम करेंगे। दरअसल भारतीय बैंक, सिटी यूनियन बैंक ने अपने ब्रांच में रोबोट लाने का फैसला किया है। इस बैंक के डायरेक्टर और सीईओ एन कामकोदी का कहना है कि सीयूबी लक्ष्मी नाम के ह्यूमनॉयड रोबोट पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर चेन्नई के टी नगर ब्रांज में लाए जा रहे हैं।

वहीं, सिटी यूनियन बैंक का यह टेस्ट सफल रहा तो बैंकिंग का काम रोबोट से कराने वाला यह भारत का पहला बैंक होगा। पायलट प्रोजेक्ट अगर सफल हुआ तो कंपनी इस साल के आखिर तक अपने ब्रांच में 25 रोबोट रखने की तैयारी में है। इससे पहले जापान के सॉफ्ट बैंक में ऐसा हो चुका हैं और रोबोट वाला वह पहला बैंक है।

एचडीएफसी जैसे भारत के बड़े प्राइवेट बैंक्स भी कथित तौर पर ह्यूमनॉइड रोबोट्स की टेस्टिंग कर रहे हैं जिनके जरिए बैंकिंग ऑपरेशन से लेकर पूछ-ताछ का काम लिया जाएगा।

बता दें कि शुरुआती दौर में ये रोबोट ग्राहकों के किसी सवालों का जवाब देंगे। बाद में इन्हें लेन देन के लिए भी रखा जाएगा। इन रोबोट्स की लागत 7 से 8 लाख रुपये हैं। ये रोबोट्स 3-4 लोगों के काम कर सकते हैं। इन रोबोट्स को फ्रांस कंपनी ने डिजाइन और डेवेलप किया है। इसे 120 ग्राहकों के जवाब देने के लिए तैयार किया गया है। इन रोबोट्स में स्क्रीन भी लगी होगी जिनपर संवेदनशील जानकारियां मिलेंगी। फिलहाल यह लक्ष्मी रोबोट्स को इंग्लिश में बात चीत करने के लिए डिजाइन किया गया है।