लैपटॉप और मोबाइल की जगह नकद राशि देगी बसपा- मायावती

Edited by: Editor Updated: 09 Oct 2016 | 01:09 PM
detail image

लखनऊ। रविवार को बसपा की पहली चुनावी महारैली में बोलते हुए मायावती ने सपा के स्मार्टफोन और लैपटॉप योजना पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि इससे प्रदेश का भला नहीं होगा। उन्होंने कहा कि बसपा सरकार सत्ता में आई तो लैपटॉप और मोबाइल की जगह नकद राशि देगी ताकि छात्रों को आर्थिक सहायता मिल सकें।

बता दें कि सपा सरकार ने पिछले चुनावों में लैपटॉप देने का वादा किया था और बहुमत से जीतकर सत्ता में आई थी, जिसमें युवा मतदाताओं ने जमकर साथ दिया था। अखिलेश यादव ने इस बार भी वैसा ही दांव खेला है और चुनावी घोषणा पत्र में युवाओं को स्मार्टफोन देने का वादा किया है।

स्वाति सिंह को बनाया निशाना

बीजेपी से निष्कासित नेता दयाशंकर की पत्नी स्वाति सिंह के विरोध के बगले झांकने को मजूबर हुईं मायावती ने महारैली मेें स्वाति सिंह को भी आड़़ों हाथ लिया।मायावती ने कहा कि जिस महिला ने भाई को उसकी पत्नी से अलग कर दिया हो, वह बीजेपी ने महिला मोर्चा प्रकोष्ठ को क्या भला कर सकेगी।

गौरतलब है प्रदेश बीजेपी के पूर्व उपाध्यक्ष दयाशंकर की पत्नी स्वाति सिंह उस वक्त सुर्खियों में आ गईं थी, जब बसपा नेता व राष्ट्रीय महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी और बसपा कार्यकर्ताओं ने दयाशंकर की पत्नी और बेटी के खिलाफ अभद्र बयान दिए थे और स्वाति सिंह उनका डटकर जबाव दिया था। दयाशंकर सिंह ने मायावती के खिलाफ अभद्र टिप्पणी की थी, जिसके जबाव में बसपा कार्यकर्ताओं ने उनकी पत्नी व बेटी पर जबावी प्रतिक्रिया थी, जिसके बाद काफी बवाल मच गया था। 

गौरतलब है बीजेपी ने स्वाति सिंह के पक्ष में ठाकुर वोटरों के रुझान को देखते हुए जल्द ही बीजेपी महिला मोर्चा प्रकोष्ठ का अध्यक्ष बनाया है, जिसका सियासी फायदा बीजेपी को मिल सकता है और मायावती स्वाति सिंह को हल्के में लेने की भूल नहीं करना चाहती हैं।