राशन की लाइन में लगने पर भी तो लोग मर सकते हैं: बीजेपी नेता

Edited by: Editor Updated: 15 Nov 2016 | 06:04 PM
detail image

भोपाल। देश की जनता नोटबंदी के चलते भारी समस्या का सामना कर रही है। इस समस्या के चलते 15 से ज्यादा लोगों के मरने की ख़बर है। लेकिन बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व मध्य प्रदेश के पार्टी प्रभारी डॉ. विनय सहस्त्रबुद्धि ने इन सबके बीच विवादित बयान दिया है जिसकी हर तरफ आलोचना हो रही है।

पत्रकारों ने जब विनय सहस्त्रबुद्धि से जब नोट पाने के लिए लाइन में लगे व्यक्ति की मौत के बारे में सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि लोग तो राशन के लिए लाइन में लगने पर भी मर सकते हैं।

ये भी पढ़ें- केन्द्र के विमुद्रीकरण स्कीम के खिलाफ केजरीवाल ने पास किया प्रस्ताव

हालांकि विनय सहस्त्रबुद्धि ने आगे कहा कि जनता सत्याग्रही के रूप में थोड़ा कष्ट सहन करें। उन्होंने बीजेपी कार्यकर्ताओं से आग्रह किया कि वे जनता की मदद करें। लोगों को चाहिए कि वो अपना काम आराम से कराएं।

गौरतलब है कि मालूम हो कि बीते दिनों मध्यप्रदेश के सागर में 69 साल के रिटायर्ड सरकारी कर्मचारी विनय पांडेय पैसे के लिए लाइन में खड़े थे, उसी दौरान वे गिर पड़े थे। बाद में उन्हें इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गयी।