कालाधन रखने वालों की सारी जिंदगी तबाह हो गई हैः पीएम मोदी

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-11-20 18:40:57
कालाधन रखने वालों की सारी जिंदगी तबाह हो गई हैः पीएम मोदी

आगरा। प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना का उद्घाटन करने आगरा पहुंचे पीएम मोदी ने बीजेपी की परिवर्तन रैली को संबोधित किया। रैली में पीएम मोदी ने रविवार को कानपुर के पुखरायां में हुए भीषण रेल हादसे में मारे लोगों के प्रति शोक भी व्यक्त किया।

पीएम मोदी ने कहा कि रेल हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। राहत और बचाव की हर मुमकिन कोशिश जारी है। जो लोग इस हादसे का शिकार हुए हैं उनको आर्थिक सहायता दी जाएगी। दुर्घटना के कारणों की पूरी गहराई से जांच होगी।

यह भी पढ़ें- लड़की का पत्र पढ़कर भावुक हुए मोदी, खुद किया फोन

पीएम मोदी ने नोटबंदी पर बोलते हुए कहा कि मैंने कालाधन रखने वालों को कड़ी सजा दी। इस फैसले से लोगों को थोड़ी दिक्कत जरूर हो रही है लेकिन, कालाधन रखने वालों की सारी जिंदगी तबाह हो गई है।

पीएम मोदी ने सीमापार से जारी आर्थिक आतंकवाद पर निशाना साधते हुए कहा कि जाली नोट के कारोबार को बड़ा झटका लगा है। आर्थिक आतंकवाद से युवा तबाह हो रहे हैं। ड्रग्स और नशीली दवाओं का सारा कारोबार कैश में चलता है जो नोटबंदी के बाद से पूरी तरह खत्म हो जाएगा।

यह भी पढ़ें- नोटबंदीः दुनिया के टॉप-3 अमीर देशों की सूची में शामिल हो सकता है भारत

पीएम ने बिना नाम लिए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा कि जिनके पैसे चिटफंड में थे वो हमारे ऊपर सवाल उठा रहे है। चिटफंड में करोड़ो-2 रुपए गायब हुए थे।

पीएम ने अपने संबोधन में बसपा सुप्रीमो मायावती पर भी हमला किया। पीएम ने कहा कि 500 और 1000 के नोट बंद होने के बाद से नोट लेकर एमएलए बनाने का खेल बंद होगा। चुनावों में पैसों के बल पर सरकार बनाने का सिस्टम खत्म होगा।

यह भी पढ़ें- नोटबंदी पर 85 फीसदी जनता पीएम नरेन्द्र मोदी के साथः सर्वे

पीएम ने आगे कहा कि नोटबंदी के बाद सेही बैंकों में लगातार पैसा आ रहा है। बैंकों में ज्यादा पैसा आने से बैंक का ब्याज घटेगा। इससे लोन भी सस्ता हो जाएगा जिसका सीधा फायदा गरीबों को मिलेगा।

पीएम ने कहा कि मैंने ये फैसला किसी को परेशान करने के लिए नही किया बल्कि ये फैसला गरीबों की सुविधा के लिए है। मैंने गरीबों की आशाओं को पूरा करने की कोशिश की है। कालाधन रखने वालों ने गरीबों के नोटों को बंद करके रखा था जो अब बाहर आ रहा है।

यह भी पढ़ें- जिनके कालेधन लुट गए वो नहीं चाहते कि संसद चलेः स्मृति ईरानी

पीएम ने किसानों का जिक्र करते हुए कहा कि पहले यूरिया के लिए किसान लाइन में लगता था। ज्यादा भीड़ होने पर पुलिस किसानों को डंडे मारती थी। लेकिन हमने यूरिया के लिए ऐसी व्यवस्था की अब यूरिया केमिकल फैक्ट्रियों में जाने के बजाय सीधे किसानों तक पहुंचती है।

यह भी पढ़ें- नोटबंदीः विरोध कर रही शिवसेना को चंदे में मिला 87 करोड़ रुपए

पीएम ने अपने संबोधन मे कहा कि नोटबंदी पर मैंने आपसे 50 दिन मांगे है। मैं निराश नहीं करुंगा। कुछ लोग मेरा हिसाब चुकता करने की मांग कर रहे है लेकिन मैं डरने वाला नहीं हूं। हमारा लक्ष्य 2022 तक सबको घर देना है। हम गरीबों को हाइटेक आवास देंगे।


राष्ट्रीय पर शीर्ष समाचार