Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

सार्वजनिक नहीं किए जाएंगे सर्जिकल स्ट्राइक के सुबूत

Edited By: Editor
Updated On : 2016-10-12 13:01:21
सार्वजनिक नहीं किए जाएंगे सर्जिकल स्ट्राइक के सुबूत
सार्वजनिक नहीं किए जाएंगे सर्जिकल स्ट्राइक के सुबूत

नई दिल्ली। सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर चल रही बहस पर विराम लगाते हुए केंद्र की सत्तारूढ़ मोदी सरकार ने फैसला किया है कि वह सर्जिकल स्ट्राइक से जुड़े किसी भी सुबूत को सार्वजनिक नहीं करेगी। सरकार का कहना है कि अगर सर्जिकल स्ट्राइक के सुबूत सामने आने से पाकिस्तान की सेना की मुश्किलें बढ़ सकती है।

सरकार का कहना है कि 'इस वक्त भारत युद्ध करने के समर्थन में नहीं है लेकिन अगर फिर भी युद्ध के हालात बनते हैं तो भारत लड़ने और जीतने के लिए तैयार है। सरकारी सूत्रों का कहना है कि भारत को सर्जिकल स्ट्राइक पर कूटनीतिक समर्थन भी मिला क्योंकि किसी भी देश ने हिंदुस्तान के इस कदम का विरोध नहीं किया।

वहीं, पाकिस्तान के सबसे करीबी माने जाने वाले चीन ने भी इस मामले पर कोई विरोध दर्ज नहीं किया है। इतना ही नहीं बहुत से इस्लामिक देशों की तरफ से आने वाले बयान भी भारत के समर्थन में थे। ऐसे हालात में पाकिस्तानी सेना की मुश्किलें और बढ़ सकती हैं अगर सुबूत सार्वजनिक कर दिए गए।

गौरतलब है कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भारत में राजनीति गर्मा गई है, सभी इसके सुबूत मांग रहे हैं।सर्जिकल स्ट्राइक की विश्वसनीयता पर सवाल उठाए जाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कैबिनेट कमेटी ऑन सिक्योरिटी (CCS) के साथ बैठक की।

सूत्रों के मुताबिक, पाक अधिकृत कश्मीर  में किए गए भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक के सुबूत पहले से रक्षा मंत्रालय के पास हैं।


राष्ट्रीय पर शीर्ष समाचार


x