बच्चों की रचनात्मक शक्ति को खत्म करता है टीवी

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-10-31 19:59:56
बच्चों की रचनात्मक शक्ति को खत्म करता है टीवी

नई दिल्ली। हम सब जानते हैं कि आज के समय में बच्चों को टीवी देखना कितना पसंद हैं लेकिन आज बच्चों की टीवी की आदत ही उनकी रचनात्मकता के लिए खतरा बनती जा रही हैं। दरअसल, एक अध्ययन में पता चला है कि जो बच्चा किताबे पढ़ते हैं या फिर पहेली हल करते हैं उनकी तुलना में जो बच्चे एक दिन में पंद्रह मिनट से ज्यादा टीवी देखना पसंद करते हैं उनकी रचनात्मकता खत्म होती जा रही हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक स्टेफोर्डशायर विश्वविद्यालय के प्रवक्ता सराह रोज ने बताया हैं कि “इसके साक्ष्य मिले हैं  कि टेलिवीजन देखने के बाद बच्चे कम मूव विचारों के साथ आए हैं।“ हालाकिं, उन्होंने ने कहा हैं कि यह प्रभाव थोड़े समय बाद गायब हो गए। रोज ने कहा कि अगर बच्चे अपने खेलो में कम रचनात्मक रहे तो इसका असर उनके भविष्य पर जरूर पड़ेगा।

आपको बता दें कि अध्ययन में तीन साल के बच्चों की रचानत्मकता पर टेलीविजन के तत्काल असर को देखा गया। इस अध्ययन में ‘पोस्टमैन पैट’ सीरियल देखने वाले बच्चों की तुलना किताब पढ़ने और पहेली हल करने वाले बच्चों से कि गई। बच्चों में ज्यादा रचनात्मक विचारों का टेस्ट किया गया। फिलहाल इन निष्कर्षों को बेलफास्ट में ब्रिटिश साइकोलॉजिकल डेवलपमेंट कांफ्रेस में पेश किया गया।