नहीं होगी सैलरी मिलने में कोई दिक्कत, सरकार ने कर ली पूरी तैयारी

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-12-01 10:51:03
नहीं होगी सैलरी मिलने में कोई दिक्कत, सरकार ने कर ली पूरी तैयारी

नई दिल्ली। महीने के पहले सप्ताह में सरकारी और प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले लोग बहुत खुश होते हैं क्योंकि इस समय उनकी पिछले महीने की सैलरी आती है। लेकिन नोटबंदी के बाद से चल रही कैश की किल्लत से लोगों के चेहरे की मुस्कान छिन गई थी। अब रिज़र्व बैंक ने एक ऐसी घोषणा की है जिससे कर्मचारियों की छिनी हुई मुस्कान वापस आ जाएगी।

रिजर्व बैंक से जुड़े सूत्रों के मुताबिक अगले एक हफ्ते तक में यानी 7 दिसंबर तक रिजर्व बैंक ने कैश सप्लाई सामान्य कर देने का लक्ष्य तय किया है। इसके लिए 500 रुपये के नोट आरबीआई ज्यादा छापेगी। आपको बता दें कि पहले ही बैंक दो तिहाई से ज्यादा एटीएम कैलीब्रेट कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें- नोटबंदीः कैशलेस हुई संसद की कैंटीन, स्पीकर सुमित्रा महाजन ने की शुरुआत

आपको बता दें कि बैंक से अपनी पूरी सैलरी की रकम निकालने से मनाही नहीं है। अगर आप की सैलरी 96000 रुपये है तो आप महीने में हर हफ्ते 24000-24000 हज़ार करके निकाल सकते हैं। यानि एक हफ्ते में सिर्फ 24 हज़ार कैश निकालने की सीमा तय है। बाकी कैशलेस ट्रांजेक्शन में कोई लिमिट नहीं है।

बता दें कि एटीएम पर कतार काफी लंबी ना हो इसके लिए सरकार कदम उठाएगी। जैसे तय समय के भीतर निश्चित संख्या में ही लोगों की एटीएम इस्तेमाल करने की इजाजत दी जाएगी और ज्यादा तेजी से नकदी दोबारा भरने का इंतजाम किया जाएगा। 500 रुपये के नोट की सप्लाई बढ़ाने का काम शुरु हो चुका है और उम्मीद है कि अगले एक हफ्ते के भीतर भारी तादाद में ये नोट मिलने लगेंगे।

यह भी पढ़ें- जनधन खातों से अब केवल 5 और 10 हजार रुपए ही निकाले जा सकेंगे

इसके अलावा रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने जनधन खातों को लेकर बड़ा फैसला किया है जिससे आम लोगों को काफी राहत मिलेगी। आरबीआई ने अपने फैसले में 1 महीने में इन खातों से 10 हजार रुपये से ज्यादा निकालने पर रोक लगा दी है। गौरतलब है कि नोटबंदी के फैसले के बाद जनधन खातों में खूब पैसा जमा कराया जा रहा है।


राष्ट्रीय पर शीर्ष समाचार